आदि मानव

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

1. औजारों को लकड़ी अथवा हड्डी के हत्थों में बाँधकर अधिक उपयोगी बनाया गया।
2. सिंघनपुर की गुफाएँ रायगढ़ जिले में स्थित हैं।
3. भारत में खेती की शुरुआत पाँच-छह, हजार साल पहले हुई।
4. आदिमानव का पहला पालतू पशु कुत्ता था।

उत्तर-, 4 (ब) संक्षिप्त उत्तर दीजिए
प्रश्न 1. आदिमानव एक जगह रहते तो उनके सामने क्या-क्या समस्याएँ आती ?
उत्तर- आदिमानव यदि एक ही जगह रहते तो उनकी मुख्य समस्या भोजन की होती। भोजन की तलाश में ही उन्हें काफी भटकना पड़ता था। उनका मुख्य भोजन कन्द-मूल, फल व शिकार था ।

प्रश्न 2. आदिमानवों के औजार किन-किन चीजों के बने होते थे?
उत्तर- आदिमानवों के औजार मुख्यतः पत्थर के बने होते थे वे पशुओं की हड्डियों एवं सींगों से भी हथियार बनाते थे जिनमें हथौड़े, कुल्हाड़ी, बसूले प्रमुख हैं। तीर और भाले भी बनाए जाते थे, जो नोकदार पत्थरों के होते थे।

प्रश्न 3. आदिमानवों के जीवन के बारे में हमें कैसे पता चलता है?
उत्तर- आदिमानवों के जीवन के बारे में हम, उनके जीवन सम्बन्धी अध्ययन करके, उनके बारे में अनुमान लगाकर कर सकते हैं। हमें खुदाई से उस जमाने की काफी चीजें मिलती हैं; जैसे-पत्थरों के औजार और जानवरों की हड्डियों से बने हथियार आदि । उस जमाने के लोगों ने गुफाओं की दीवारों पर काफी सारे चित्र भी बनाए थे, जो हजारों साल बाद आज भी हमें देखने को मिलते हैं। इन सबसे हमें आदिमानवों की जीवन-शैली के बारे में पर्याप्त जानकारी मिलती है।

प्रश्न 4. छत्तीसगढ़ में मिले गुफा चित्रों की क्या-क्या विशेषताएँ हैं?
उत्तर- छत्तीसगढ़ में बस्तर जिले की कुटुमसर गुफा तथा कैलाश गुफा, रायगढ़ जिले की कबरा पहाड़ गुफा, सिंघनपुर गुफा, रामगढ़ गुफा, जोगीमारा गुफा ने आदिमानव के समय के काफी चित्र मिले है। गुफा के अंदर जगह-जगह शिवलिंग जैसी आकृतियाँ बनी हुई है। दीवारों पर पाषाणकालीन मानव द्वारा रंगीन चित्रकारी की गई है। यहाँ लगभग 2000 फीट की ऊँचाई पर गहरे गौरिक रंग के शैलचित्र बने हुए है, जिनमें हिरण, घोड़ा तथा कछुआ के चित्र बने हुए है। यहाँ जंगली भैंसे का बहुत बड़ा चित्र है, पशु एवं मानव की आकृतियाँ बनी हुई है, जानवरों के शिकार को भी चित्रित किया गया है।

प्रश्न 5. पशुपालन से आदिमानव को क्या-क्या लाभ हुआ? –
उत्तरः पशुपालन, आदिमानव के जीवनक्रम का सबसे महत्वपूर्ण बदलाव था। माना जाता है कि मनुष्य ने सबसे पहले कुत्तों को पाला । कुत्ते बचे हुए भोजन को खाते थे और शिकारियों को शिकार करने में काफी मदद करते थे। इसके बाद जंगली भेड़-बकरी व गाय आदि भी पाले जाने लगे। इनसे उन्हें दूध व माँस तो मिलता था तथा खेती व खेती का सामान ले जाने के लिए भी वे जानवरों का उपयोग करते थे।

प्रश्न 6. खेती करने के लिए लोगों को एक जगह क्यों बसना पड़ा ?
उत्तर-खेती की शुरुआत के कारण आदिमानव के जीवन में काफी. बड़ा परिवर्तन आया। अब वे एक स्थान पर ही स्थायी रूप से बसने लगे। दरअसल खेती करने के कारण उनका एक स्थान पर लम्बे समय तक रहना जरूरी हो गया क्योंकि फसलों की बुवाई से लेकर कटाई तक में काफी समय लगता है। लगातार खेतों में काम व रखवाली करनी पड़ती थी। फसल जब पककर कट जाती थी तो उसे साल भर के उपयोग के लिए बचाकर रखना पड़ता था। इन कारणों से खेती करने वालों को स्थाई रूप से अपने खेतों के आस-पास ही घर बनाकर बस जाना पड़ा ।

प्रश्न 7. खेती करने वाले लोग धरती को देवी माता मानकर उसकी पूजा क्यों करते थे?

उत्तर-खेती करने वाले लोग धरती को देवी माता मानकर उसकी पूजा इसलिए करते हैं क्योंकि धरती माता में ही मनुष्यों का जन्म हुआ है, धरती माता हम सभी को अपनी गोद में उठायी है। धरती से ही हमें अन्न, जल, लकड़ी, फलफूल, शुद्ध प्राण वायु प्राप्त होती है। धरती माता ही हमारे लिए सब कुछ है। इन शक्तियों को खुश करने के लिए वे पूजा, नाच-गाना और जानवरों की बलि भी देते थे।

 

Leave a Comment